विश्वकप जूनियर हाकी प्रतियोगिता कल से...*भिंड में सड़क दुघर्टना में 3 की मौत, 6 घायल*दिल्ली में कोहरे के कारण हवाई, ट्रेन सेवाएं प्रभा.*कानपुर व्यापारी कि हत्या का खुलासा*सोने में लगातार दूसरे दिन गिरावट*कारखानों के कर्मचारियों के लिए GOOD NEWS*कोहरे से हुई सड़क दुर्घटना में कांस्टेबल की मौत*बेल्जियम में I.S. को समर्थन देने के संदेह में 8...*राजस्थान: तीर्थयात्र नि:शुल्क तीर्थ यात्र के लिए..*नौसेना ने 800 फंसे पर्यटकों को बचाया ......*
सेना में अब जिप्सी की जगह लेंगी टाटा की लग्जरी गाड़ियां
शीतकालीन सत्र में कई दिन बाद संसद पहुंचीं सोनिया
250 रुपए प्रति टन के भाव पर बिक रहे पुराने नोट
गरीबी का जिक्र नहीं फिक्र करते हैं गरीब
मुख्यपृष्ठ राष्ट्रीय विश्व शहर  व्यापार खेल मनोरंजन शिक्षा सम्पादकीय क्लासिफाइड Appointment पत्रिकाएँ आज का पंचांग
कितनी कॉलोनियां अवैध? जल्द खुलेगा राज
On 9/21/2013 6:56:07 PM

Change font size:A | A

Print

E-mail

Comments

Rating

Bookmark

भोपाल। बिना डायवर्सन व एनओसी के कृषि भूमि पर प्लॉट काटकर बेचने वालों पर अब एक और पहाड़ टूटने वाला है। उनके द्वारा प्लॉट काटकर बनाई जा रही कॉलोनियों को अवैध की सूची में रखा जाएगा। यहीं नहीं इस सूची को विज्ञापन के तौर पर अखबारों में प्रकाशित कर आम जनता को सचेत भी किया जाएगा कि नवीन निíमत हो रही यह कॉलोनियां अवैध हैं। यहां पर प्लॉट या मकान न खरीदें। इसको लेकर हुजूर एसडीएम ने तैयारी शुरू कर दी है। जल्द ही हुजूर क्षेत्र में बनी और बनाई जा रही अवैध व वैध कॉलोनियों के राज खुल जाएंगे।
किसको अनुमति मिली, किसको नहीं
आचार संहिता लागू होने से पहले अवैध व वैध कॉलोनियों की सूची को प्रकाशित कराने की तैयारी में जुटे हुजूर एसडीएम का कहना है कि इस सूची से सामने आएगा कि विकसित व विकासशील कौन से कॉलोनी के पास सभी अनुमतियां हैं और किसके पास नहीं। इसके अतिरिक्त यह भी सामने आएगा कि किस कॉलोनी में लोग प्लॉट खरीद सकते हैं और किसमें नहीं। इससे लोग ठगे भी नहीं जा सकेंगे। जो अवैध कॉलोनियां सामने आएंगी उनके प्लॉटों के नामांतरण भी नहीं किए जाएंगे, जब तक वह पूरी अनुमतियां नहीं ले लेते।

अवैध कॉलोनी का निर्माण रोकने निकाला नया रास्ता
अधिकारियों की माने तो सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद एसडीएम कोर्ट द्वारा अवैध कॉलोनियों के प्लॉट्स की रजिस्ट्री पर जो रोक लगाई थी, वह समाप्त हो गई है, क्योंकि कोर्ट ने निर्देश में कहा है कि स्टांप अधिनियम के तहत रजिस्ट्री पर रोक लगाने का अधिकार किसी को नहीं है। इसके चलते वर्तमान में पंजीयन कार्यालय में अवैध रूप से निर्मित हो रही कॉलोनियों में कम कीमत में खरीदे गए प्लॉटों की अटकी पड़ी रजिस्ट्रियां धड़ल्ले से हो रही है। हालांकि नामांतरण पर रोक अभी भी होने के कारण, जमीन का नामांतरण नहीं हो पा रहा है। अब इन अवैध कॉलोनियों के विकास को रोकने के लिए जिला प्रशासन ने यही नया रास्ता निकाला है। जब आम जनता के सामने आ जाएगा कि कौन सी कॉलोनी वैध है और कौन सी अवैध, तो वह स्वत: ही वैध कॉलोनी में प्लाट या मकान लेने का प्रयास करेंगे। यहीं नहीं कॉलोनाइजर व बिल्डर भी नवीन कॉलोनी विकसित करने से पहले सभी अनुमतियां लेकर वैध कॉलोनी ही बनाने का प्रयास करेंगी।

56 से अधिक कॉलोनियों पर लगाई रोक
कृषि भूमि पर छोटे-छोटे प्लॉट काटकर कॉलोनी विकसित करने वाले कॉलोनाइजर बिना डायवर्सन व अनुमतियों के ही कार्य कर रहे थे। इस पर शिकंजा कसते हुए तत्कालीन एसडीएम ने इनके निर्माण कार्य पर रोक लगाने के साथ-साथ प्लॉट की रजिस्ट्री व नामांतरण पर भी रोक लगा दी थी। पिछले दो साल में 26 गांवों की ऐसी करीब 56 अवैध कॉलोनियां इस सूची में शामिल हैं, जिनके नामांतरण व रजिस्ट्री पर रोक लगाई गई है। यह 56 कॉलोनियां करीब 2000 एकड़ भूमि पर बनाई जा रही थीं। इस रोक के बाद अभी तक एक भी कॉलोनाइजर ने सभी अनुमतियां प्राप्त नहीं की हैं।

Post Comments
More News
50 मीटर दूर कुछ भी दिखाई नह...
अब न हो ऐसी त्रसदी, लें संकल...
15 लाख युवाओं को कौशल विकास ...
संपत्ति की जानकारी छिपाने मे...
केबल स्टे ब्रिज के लिए हटाया...
जनसंपर्क विभाग की परामर्शदात...
अनेक परीक्षार्थियों ने नंगे ...
नव विकसित कॉलोनियों का सर्वे...
15 हजार से ज्यादा दौड़े रन भ...
मल्टी की चौथी मंजिल से कूंदी...
ट्रक से भिड़ी कार, एक की मौत...
ट्रक ने बाइक को मारी टक्कर स...
फंदा के पास दो बसें भिड़ीं, ...
बंद कमरे में मिली इंजीनियर क...
जम्बूरी मैदान में बिखरा अलका...
निगम अधिकारियों पर दायर याचि...
स्मार्टफोन के इंतजार में राज...
घने कोहरे के चलते बदल सकता ह...
नसबंदी फेल की पीड़ा भोग रहीं...
कर्मचारी संघ में गायब मंगल, ...
उत्साह से मनाई जाएगी मास्टर ...
नुकसान की राशि बढ़ाने की कर्...
माइग्रेन से परेशान पंचायत सच...
मकान के छतों के बेहद करीब से...
किसानों और जवानों ने सीखा जै...
मध्यप्रदेश विस में जयललिता क...
घर बैठे करें आय, निवास प्रमा...
अब गरीबों को राशन नॉन असर यो...
मैं महापौर आलोक शर्मा बोल रह...
नव सृजन सम्मान से सम्मानित ह...
 सम्पर्क करें  विज्ञापन दरें आपके सुझाव संस्थान
© Copyright of Rajexpess 2009,all right reserved.
Developed & Designed By: