पटरी से उतरी ट्रेन, 50 घायल*दिल्ली में विवाह का पंजीकरण होगा अनिवार्य*दिल्ली की सड़कों पर अब नहीं चलेंगे ई-रिक्शा*किसी भी पार्टी को नहीं मिलेगा बहुमत*मोदी चुनाव को खरीदने की कोशिश कर रहे हैं*मुस्लिम धर्मगुरुओं से राजनाथ की मुलाकात पर सियासत*भगोड़ा कहने वालों की छाती पर मूंग दलूंगा: केजरीवाल*महाराष्ट्र में लोकसभा चुनावों के दूसरे चरण की वोटि*बिहार में सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था*गंगोत्री जैसा गंगा जल कोलकाता में भी मिले: शंकराचा*
असम में गुवाहाटी के नजदीक मंगलवार आधी रात को एक एक्सप्रेस
ब्रिटेन में 12 साल की बच्ची ने अपने बच्चे को जन्म दिया है।
छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित कांकेर लोकसभा क्षेत्र में मतदा
दूसरे चरण के चुनाव में अपना भाग्य आजमा रहे उम्मीदवारों में
मुख्यपृष्ठ राष्ट्रीय विश्व शहर  व्यापार खेल मनोरंजन शिक्षा सम्पादकीय क्लासिफाइड Appointment पत्रिकाएँ आज का पंचांग
कितनी कॉलोनियां अवैध? जल्द खुलेगा राज
On 9/21/2013 6:56:07 PM

Change font size:A | A

Print

E-mail

Comments

Rating

Bookmark

भोपाल। बिना डायवर्सन व एनओसी के कृषि भूमि पर प्लॉट काटकर बेचने वालों पर अब एक और पहाड़ टूटने वाला है। उनके द्वारा प्लॉट काटकर बनाई जा रही कॉलोनियों को अवैध की सूची में रखा जाएगा। यहीं नहीं इस सूची को विज्ञापन के तौर पर अखबारों में प्रकाशित कर आम जनता को सचेत भी किया जाएगा कि नवीन निíमत हो रही यह कॉलोनियां अवैध हैं। यहां पर प्लॉट या मकान न खरीदें। इसको लेकर हुजूर एसडीएम ने तैयारी शुरू कर दी है। जल्द ही हुजूर क्षेत्र में बनी और बनाई जा रही अवैध व वैध कॉलोनियों के राज खुल जाएंगे।
किसको अनुमति मिली, किसको नहीं
आचार संहिता लागू होने से पहले अवैध व वैध कॉलोनियों की सूची को प्रकाशित कराने की तैयारी में जुटे हुजूर एसडीएम का कहना है कि इस सूची से सामने आएगा कि विकसित व विकासशील कौन से कॉलोनी के पास सभी अनुमतियां हैं और किसके पास नहीं। इसके अतिरिक्त यह भी सामने आएगा कि किस कॉलोनी में लोग प्लॉट खरीद सकते हैं और किसमें नहीं। इससे लोग ठगे भी नहीं जा सकेंगे। जो अवैध कॉलोनियां सामने आएंगी उनके प्लॉटों के नामांतरण भी नहीं किए जाएंगे, जब तक वह पूरी अनुमतियां नहीं ले लेते।

अवैध कॉलोनी का निर्माण रोकने निकाला नया रास्ता
अधिकारियों की माने तो सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद एसडीएम कोर्ट द्वारा अवैध कॉलोनियों के प्लॉट्स की रजिस्ट्री पर जो रोक लगाई थी, वह समाप्त हो गई है, क्योंकि कोर्ट ने निर्देश में कहा है कि स्टांप अधिनियम के तहत रजिस्ट्री पर रोक लगाने का अधिकार किसी को नहीं है। इसके चलते वर्तमान में पंजीयन कार्यालय में अवैध रूप से निर्मित हो रही कॉलोनियों में कम कीमत में खरीदे गए प्लॉटों की अटकी पड़ी रजिस्ट्रियां धड़ल्ले से हो रही है। हालांकि नामांतरण पर रोक अभी भी होने के कारण, जमीन का नामांतरण नहीं हो पा रहा है। अब इन अवैध कॉलोनियों के विकास को रोकने के लिए जिला प्रशासन ने यही नया रास्ता निकाला है। जब आम जनता के सामने आ जाएगा कि कौन सी कॉलोनी वैध है और कौन सी अवैध, तो वह स्वत: ही वैध कॉलोनी में प्लाट या मकान लेने का प्रयास करेंगे। यहीं नहीं कॉलोनाइजर व बिल्डर भी नवीन कॉलोनी विकसित करने से पहले सभी अनुमतियां लेकर वैध कॉलोनी ही बनाने का प्रयास करेंगी।

56 से अधिक कॉलोनियों पर लगाई रोक
कृषि भूमि पर छोटे-छोटे प्लॉट काटकर कॉलोनी विकसित करने वाले कॉलोनाइजर बिना डायवर्सन व अनुमतियों के ही कार्य कर रहे थे। इस पर शिकंजा कसते हुए तत्कालीन एसडीएम ने इनके निर्माण कार्य पर रोक लगाने के साथ-साथ प्लॉट की रजिस्ट्री व नामांतरण पर भी रोक लगा दी थी। पिछले दो साल में 26 गांवों की ऐसी करीब 56 अवैध कॉलोनियां इस सूची में शामिल हैं, जिनके नामांतरण व रजिस्ट्री पर रोक लगाई गई है। यह 56 कॉलोनियां करीब 2000 एकड़ भूमि पर बनाई जा रही थीं। इस रोक के बाद अभी तक एक भी कॉलोनाइजर ने सभी अनुमतियां प्राप्त नहीं की हैं।

Post Comments
More News
झोंक दी पूरी ताकत...
ननि कमिश्नर ने किया मतदान के...
काउंटडाउन शुरू...
राजस्थानी हवाओं से बरपा कहर...
पोल से टकराई कार 407 में घुस...
कातिल को फोन करके बुलाया था ...
दूसरे राज्यों में जचेंगी बीड...
मतदाताओं को रियायती दरों पर ...
आज से थम जाएगा चुनावी तूफान...
मास्टर प्लान लागू कर शहर का ...
भाजपा सरकार में देश महाशक्ति...
नौकरानी ने चुराए जेवरात...
डॉ. आयुश मेहता को भेजा जेल...
कचरा सैंपल का काम पूरा, रिपो...
प्रेयर कर किया चर्च में प्रव...
तालाब में छलांग लगाने वाला य...
इंजीनियरिंग से महंगी नर्सरी ...
गुलाब का फूल देकर मांगे वोट...
गला रेतकर सफाईकर्मी को उतारा...
भेलकíमयों से हड़पे 11 लाख धो...
दिन गर्म तो रात में राहत...
सस्ते में मिल रही बीमारियां...
चावल की रैक आई तो गेहूं का उ...
पुराने शहर में फिर निकला फ्ल...
अगले माह में साफ होगी ऑनलाइन...
इग्नू ने शुरू की शिक्षकों की...
सवा तीन सौ लीटर शराब और सात ...
शादी का कहकर किया दुष्कर्म...
बाघ के बाद अब तेंदुए ने उड़ा...
निमोनिया से बच्चों को बचाने ...
विशेष परीक्षा कराने की तैयार...
490 लेक्चरार होंगे नियुक्त...
 सम्पर्क करें  विज्ञापन दरें आपके सुझाव संस्थान
© Copyright of Rajexpess 2009,all right reserved.
Developed & Designed By: