• 14 साल की लड़की को बंधक बना 1000 लोगों से बनवाया शारीरिक संबंध
  • प्रशांत भूषण को पीटने वाले को बीजेपी ने बनाया प्रवक्ता
  • राजस्थान: लैंडिंग से पहले बाड़मेर में क्रैश हुआ सुखोई, दोनों पायलट सुरक्षित
  • 'लालू परिवार' हुआ रघुवंश से नाराज, राबड़ी ने बयान को बोला फूहड़
  • गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र को पांचवां प्रांत घोषित करने की तैयारी में पाकिस्तान
  • सिद्धू को मिल सकता है कांग्रेस से झटका, अमरिंदर नहीं चाहते कोई डिप्टी CM
  • लोकसभा में भाजपा सांसदों ने किया पीएम मोदी का स्वागत, लगे 'जयश्री राम' के नारे
  • पंजाब और गोवा विधानसभा चुनावों में मिली हार के बाद आम आदमी पार्टी में फूट के आसार!
आंगन से क्यों गायब हो रही नन्ही गौरैया
आंगन से क्यों गायब हो रही नन्ही गौरैयाविज्ञान और विकास के बढ़ते कदम ने हमारे सामने कई चुनौतियां भी खड़ी की हैं, जिससे निपटना हमारे लिए आसान नहीं है। विकास की महत्वाकांक्षी इच्छाओं ने हमारे सामने पर्यावरण की विषम स्थिति पैदा की है, जिसका असर इंसानी जीवन के अलावा पशु-पक्षियों पर साफ दिखता है। इंसान के बेहद करीब रहने वाली कई प्रजाति के पक्षी और चिड़िया आज हमारे बीच से गायब है।
रंग पंचमी पर रंगों में रमे होते हैं देवता
रंग पंचमी पर रंगों में रमे होते हैं देवतारंग पंचमी होली का ही एक रूप है जो देश के कई क्षेत्रों में चैत्र मास की कृष्ण पंचमी को मनाया जाता है। दरअसल होली का जश्न कई दिनों तक चलता है और इसकी तैयारियां होली के दिन यानि फाल्गुन पूर्णिमा से लगभग एक महीने पहले शुरू हो जाती है। फाल्गुन पूर्णिमा को होली का दहन के पश्चात अगले दिन सभी लोग उत्साह में भरकर रंगों से खेलते हैं।
स्टीफन हॉकिंग ने चेताया, इंसान और तकनीक तबाह कर सकते हैं दुनिया
स्टीफन हॉकिंग ने चेताया, इंसान और तकनीक तबाह कर सकते हैं दुनियाआज आधुनिकीकरण के इस युग में जब सम्पूर्ण मानव समाज तकनीकी विकास की ओर दिनो दिन बढ़ता जा रहा है, परमाणु संयंत्रों की संख्या में वृद्धि होती जा रही है। देश एक-दूसरे को नीचा और कम विकसित दिखाने के लिए खुद को आधुनिक तकनीक से लैस करते जा रहे हैं और न ही हथियारों की आपूर्ति में कमी नहीं आने दे रहे हैं और न परमाणु हमलों की धमकियां देने से गुरेज़ कर रहे हैं।
स्मोक करते हैं तो जान लीजिए कितना घातक है थर्ड-हैण्ड स्मोक
स्मोक करते हैं तो जान लीजिए कितना घातक है थर्ड-हैण्ड स्मोककमरों और गाड़ी में धूम्रपान करने के बाद तम्बाकू के धुंए के हानिकारक केमिकल कपड़ों, दीवारों, फर्नीचर, कारपेट, बालों और बच्चों के खिलौनों आदि चीजों में चिपक जाते हैं। साथ ही धूम्रपान करने वाले व्यक्ति के कपड़े और त्वचा निकोटीन और अन्य हानिकारक केमिकल्स के अवशेषों को सोख लेती है जो कि घर से अन्दर-बाहर जाने पर भी उसी के साथ जाते हैं। इन्हीं अवशेषों को थर्ड-हैण्ड स्मोक कहा जाता है। जो भी
चाणक्य की दृष्टि और राजधर्म निभाने की भारतीय परंपरा
चाणक्य की दृष्टि और राजधर्म निभाने की भारतीय परंपरापिछले चुनावों में नेताओं पर स्याही फैंकना, मुंह पर थप्पड़ मारने आदि जैसी घटनाएं भी हुई, जिस पर सोशल नेटवकिर्ंग फेसबुक, ट्विटर आदि पर अनेक लोगों ने नेताओं की खिल्ली भी उड़ाई। आम चुनाव असभ्य जनता के लिए खिलवाड़ हो सकते हैं लेकिन भारत जैसे प्राचीन सभ्यता वाले देश की प्रजा के लिए खिलवाड़ नहीं हैं।
विज्ञान ने साबित कर दिया है कि हर चीज एक ही ऊर्जा है
विज्ञान ने साबित कर दिया है कि हर चीज एक ही ऊर्जा हैमॉडर्न फिजिक्स या आधुनिक भौतिक शास्त्र के अनुसार अस्तित्व में जो कुछ भी मौजूद है वह ऊर्जा ही है। तो फिर क्या कारण है कि सब कुछ एक होने के बाद भी दुनिया में मतभेद दिखाई देते हैं? क्या एक ऊर्जा दूसरी के खिलाफ है? क्या अच्छी और बुरी ऊर्जा जैसी कोई चीज़ है?आधुनिक विज्ञान ने साबित कर दिया है कि हर चीज एक ही ऊर्जा है।
क्या है सकारात्मक और नकारात्मक ऊर्जा
क्या है सकारात्मक और नकारात्मक ऊर्जाआपको किसने बताया कि ऊर्जाएं सकारात्मक और नकारात्मक होती हैं। मैं बिजली के सर्किट की बात नहीं कर रहा हूं। मैं जीवन-ऊर्जा की बात कर रहा हूं। विज्ञान कहता है कि केवल एक ऊर्जा है, धर्म कहता है कि ईश्वर हर जगह है। मैं तो केवल एक ही ऊर्जा के बारे में जानता हूं, लेकिन आपने दो बना लीं। क्यों? क्योंकि अगर आप दो नहीं बनाते तो आप इसके बारे में सोच नहीं पाते।
अध्यात्म से होता है व्यक्तित्व का विकास
अध्यात्म से होता है व्यक्तित्व का विकासक्या आपने कभी ध्यान दिया है कि जब एक छोटा बच्चा कमरे में प्रवेश करता है, तो कमरे में उपस्थित सभी व्यक्ति उस बच्चे की उपस्थिति मात्र से ही आकर्षित हो जाते हैं। बच्चा कोई प्रयास नहीं करता है, सब स्वत ही होता है। हम शब्दों से ज्यादा अपनी उपस्थिति से संवाद करते हैं। लेकिन जैसे जैसे हम बड़े होते जाते हैं, अपने जीवन के इस उत्कृष्ट पक्ष (उपस्थिति) का ध्यान रखना भूल जाते हैं।
शान्ति के अलंकार
शान्ति के अलंकारशान्ति के दूत के रूप में श्री श्री रवि शंकर द्वंद्व समाधान में एक अहम् भूमिका अदा करते हैं, और अपने तनाव एवं हिंसा मुक्त समाज का सन्देश जनसभाओं और विश्व सम्मेलनों में प्रचारित करते है। निष्पक्ष और केवल शान्ति की कार्यावली रखने वाले समझे जाने वाले, आप द्वंद्व में फंसे लोगों के लिए आशा के प्रतीक हैं।
नवसृजन की क्षमता केवल महिला में
नवसृजन की क्षमता केवल महिला मेंसमस्त ब्रह्मांड में नवसृजन क्षमता केवल महिला अथवा मादा को ही है। इसीलिए नारी को सृजन की देवी कहा गया है। मनुष्य के सारे रिश्ते जन्म से शुरू होते हैं परंतु एक मां का शिशु से रिश्ता जन्म से भी 9 माह पहले शुरु हो जाता है। इसीलिए एक बच्चे को मां से बेहतर कोई नहीं समझ सकता। नारी की सहजता सहनशीलता उसकी कमजोरी नहीं नहीं है बल्कि उसकी शक्ति भी यही है वह दर्द भी सहती है चुप भी रहती है।
देश की उन्नति युवा शक्ति पर निर्भर
देश की उन्नति युवा शक्ति पर निर्भरकिसी देश की उन्नति उस देश की युवा शक्ति पर निर्भर करती है आने वाला कल युवाओं किस सोच और उनके व्यवहार पर निर्भर करता है प्रत्येक देश की अपनी सभ्यता संस्कृति होती है और युवा और संस्कृति से जुड़कर नए परिवेश को समाहित कर नए जीवन का निर्माण करते हैं आज के समय में जहां मोबाइल लैपटॉप मैं इंटरनेट में युवाओं के मन में क्रांतिकारी भावनाओं का समावेश कर दिया है
नए फीचर से लोग क्यों हैं नाराज?
नए फीचर से लोग क्यों हैं नाराज?व्हाट्सऐप के नए फीचर को लेकर सोशल मीडिया पर बहस गर्म है। ज्यादातर लोगों ने नए फीचर को लेकर नाखुशी जाहिर की है। हालांकि तकनीकी ऑपरेटरों का मानना है कि नए फीचर से
मोह और प्रेम एक ही हैं या कोई अंतर है
मोह और प्रेम एक ही हैं या कोई अंतर हैअर्जुन ने युद्ध के मैदान में अपने विरोध में खड़े सभी सगे-संबंधियों को देखकर हथियार डाल दिए थे। उसके पीछे केवल उसका मोह था।
छोटे कद की महिलाएं लगती है आकर्षक
छोटे कद की महिलाएं लगती है आकर्षकआकर्षक दिखने के लिए कद बहुत मायने रखता है। लेकिन इसे पढ़ने के बाद आपका ये मिथ टूट जाएगा एक रिपोर्ट में ये बात सामने आई है
कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुईं रीता बहुगुणा जोशी
कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुईं रीता बहुगुणा जोशीउत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले यह खबर कांग्रेस के लिए एक बड़ा झटका है. रीता के भाजपा में शामिल होने की खबरों के बीच कांग्रेस ने उन्हें मनाने की पूरी कोशिश की लेकिन सारी कोशिशें नाकाम रहीं. रीता बहुगुणा जोशी के भाई व उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा भी कुछ माह पूर्व भाजपा में शामिल हो गये थे.
कैसे पटाएं अपने पसंद की लड़की को
कैसे पटाएं अपने पसंद की लड़की कोदोस्‍तों, लड़की पटाने में रॉकेट सांइस की जरुरत नहीं पड़ती बल्‍कि सही से बात करने का तरीका आना चाहिये। आज हम आपकी ये मुश्‍किल भी आसान किये देते हैं और बताते हैं ये 6 तरीके जिससे आप खुद की पसंद की लड़की को पटा सकते हैं।
Contact us: contact@rajexpress.com
Copyright © 2016 RajExpress.com. All Rights Reserved.
Designed by : 4C Plus