• 14 साल की लड़की को बंधक बना 1000 लोगों से बनवाया शारीरिक संबंध
  • प्रशांत भूषण को पीटने वाले को बीजेपी ने बनाया प्रवक्ता
  • राजस्थान: लैंडिंग से पहले बाड़मेर में क्रैश हुआ सुखोई, दोनों पायलट सुरक्षित
  • 'लालू परिवार' हुआ रघुवंश से नाराज, राबड़ी ने बयान को बोला फूहड़
  • गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र को पांचवां प्रांत घोषित करने की तैयारी में पाकिस्तान
  • सिद्धू को मिल सकता है कांग्रेस से झटका, अमरिंदर नहीं चाहते कोई डिप्टी CM
  • लोकसभा में भाजपा सांसदों ने किया पीएम मोदी का स्वागत, लगे 'जयश्री राम' के नारे
  • पंजाब और गोवा विधानसभा चुनावों में मिली हार के बाद आम आदमी पार्टी में फूट के आसार!

होम |

जबलपुर

खुले में बिक रहा ‘मांस-मछली’

By Raj Express | Publish Date: 3/20/2017 3:00:33 PM
खुले में बिक रहा ‘मांस-मछली’

जबलपुर। मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के साफ और सख्त निर्देशों के बावजूद शहर में खुलेआम मांस की बिक्री हो रही है। शहर के तमाम इलाकों में सड़क पर दुकान सजा कर मांस-मछली का धंधा हो रहा है। प्रशासनिक अफ सरों का रोजाना आना जाना होता है, लेकिन अभी तक किसी ने ध्यान नहीं दिया। इसके साथ ही निगम अतिक्रमण कार्रवाई के दौरान सजी दुकानों का जुर्माना तो कर देता है, लेकिन उनको हटाए जाने से परहेज करता है। 

इन क्षेत्रों में धड़ल्ले से हो रही बिक्री

रांझी, गोकलपुर, रामपुर, पोलीपाथर, नौदरा ब्रिज, यादव कॉलोनी, स्नेहनगर, गोरखपुर, अधारताल, आईटीआई के पास, रानीताल से आगा चौक के बीच, गढ़ा बाजार, सूपाताल कब्रिस्तान के पास, मेडिकल कॉलेज के समीप, धनवंतरिनगर, महानद्दा, घमापुर से रद्दी चौकी रोड, मंडी मदार टेकरी, नालबंद मोहल्ला और सिविक सेंटर सहित अन्य क्षेत्रों में खुले में मांस का विक्रय किया जा रहा है।

शाम को बन जाता है विक्रय क्षेत्र

शाम को शवाब पर रहने वाली मांस दुकानों पर कार्रवाई के लिए शाम को नगर निगम में अमला ही मौजूद नहीं होता। सिविक सेंटर, रानीताल, अधारताल, रांझी सहित अन्य क्षेत्र में मांस-मछली की दुकानें सज जाती हैं, जो देर रात तक चालू रहती हैं। इन दुकानों में शराब पीने वालों से लेकर असमाजिक व्यक्ति तक मौजूद रहते हैं, जिसके कारण आम लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ता है। 

होती हैं गंभीर बीमारियां

चिकित्सा क्षेत्र के जानकारों के मुताबिक रक्त में हर तरह के बैक्टीरिया व जीवाणुओं की वृद्धि बड़ी तेजी से होती है। बैक्टीरिया या जीवाणु युक्त मांस के सेवन से कई संक्रामक बीमारियां होने की आशंका बनी रहती है। सुअर व अन्य कई पशुओं के पेट में टीनिया सोलियम नामक जीवाणु पाया जाता है, जो मांस के साथ खाने वाले के पेट में चला जाता है। यह सीधे आंतों और फेफ ड़ों में असर करता है। इससे कई बार गैंगरीन जैसी घातक बीमारी भी हो सकती है। 

क्या है हाईकोर्ट का आदेश

एक जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए 2011 में हाईकोर्ट ने कहा था कि शहर में खुले में मांस-मछली बिक्री न की जाए। कलेक्टर व नगर निगम को निर्देश दिए गए थे कि इसके लिए अलग व्यवस्था कराई जाए। मांस-मछली को बेचने के लिए ढंक कर रखा जाना सुनिश्चित किया जाए।

Contact us: contact@rajexpress.com
Copyright © 2016 RajExpress.com. All Rights Reserved.
Designed by : 4C Plus