• 14 साल की लड़की को बंधक बना 1000 लोगों से बनवाया शारीरिक संबंध
  • प्रशांत भूषण को पीटने वाले को बीजेपी ने बनाया प्रवक्ता
  • राजस्थान: लैंडिंग से पहले बाड़मेर में क्रैश हुआ सुखोई, दोनों पायलट सुरक्षित
  • 'लालू परिवार' हुआ रघुवंश से नाराज, राबड़ी ने बयान को बोला फूहड़
  • गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र को पांचवां प्रांत घोषित करने की तैयारी में पाकिस्तान
  • सिद्धू को मिल सकता है कांग्रेस से झटका, अमरिंदर नहीं चाहते कोई डिप्टी CM
  • लोकसभा में भाजपा सांसदों ने किया पीएम मोदी का स्वागत, लगे 'जयश्री राम' के नारे
  • पंजाब और गोवा विधानसभा चुनावों में मिली हार के बाद आम आदमी पार्टी में फूट के आसार!

होम |

राज्य

समाजवादी कूनबे का कलह फिलहाल के लिए थमा, अखिलेश के हाथों में टिकट बंटवारे का जिम्मा

By Raj Express | Publish Date: 10/19/2016 1:44:51 PM
समाजवादी कूनबे का कलह फिलहाल के लिए थमा, अखिलेश के हाथों में टिकट बंटवारे का जिम्मा

  लखनऊ।  पांच दिनों से समाजवादी पार्टी में जारी शीतयुद्ध अभी थमा तो नहीं है लेकिन उसकी तासीर जरूर धीमी पड़ी है। पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष लिए जाने के बाद से आहत अखिलेश यादव को उनके पिता मुलायम सिंह यादव ने टिकट बांटने का अधिकार दे दिया है। हालांकि अब तक समाजवादी पार्टी की तरफ से इस बात की औपचारिक घोषणा नहीं की गई है। वहीं शनिवार की सुबह मुख्यमंत्री और मुलायम सिंह के आवास पर जमा हुए अखिलेश समर्थकों की नारेबाजी से गुस्साए मुलायम को यह तक कहना पड़ा कि भाजपा बूथ मजबूत करने में जुटी है और हम लड़ रहे हैं। समाजवादी पार्टी के मुख्यमंत्री अखिलेश ने अपने सरकारी आवास पर मीडिया से अपना दर्द साझा किया।

 

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में पांच सालों तक काम करें हम, सरकार का रिपोर्ट कार्ड लेकर जनता के बीच जाएं हम और विधानसभा चुनाव का टिकट बांटने का अवसर उन्हें न दिया जाए। अखिलेश की यह बात उनके पिता को समझ आ गई है। यही वजह है कि अखिलेश को नेताजी समाजवादी पार्टी के संसदीय बोर्ड का अध्यक्ष बनाने पर मंथन कर रहे हैं। यदि यह पद अखिलेश यादव के पास आ गया तो टिकट बांटने में उनकी राय भी बेहद अहम हो जाएगी। पांच दिनों से समाजवादी पार्टी और सरकार में चल रहे शीतयुद्ध को बहुत हद तक समाप्त कर अखिलेश विजय की मुद्रा में हैं। शिवपाल को लोक निर्माण विभाग न देकर और टिकट बंटवारे में अपनी राय भी शामिल करवा कर अखिलेश ने इस बात के संकेत दे दिए हैं कि पूर्ण बहुमत की जो सरकार उनकी अगुआई में बनी, उसका श्रेय लूटने का हिमाकत कोई नहीं कर सकता है।

शनिवार सुबह से मुख्यमंत्री आवास की एक किलोमीटर की परिधि में स्थित मुलायम आवास और सपा के प्रदेश मुख्यालय के बीच उमड़े अखिलेश समर्थकों के हुजूम ने अमर सिंह के विरोध में नारेबाजी की। कुछ जगहों पर शिवपाल समर्थकों के साथ उनकी हल्की नोंक-झोंक भी हुई। चार घंटे से अधिक समय तक सड़क पर चले शक्ति प्रदर्शन के बीच अखिलेश ने मुख्यमंत्री आवस पर युवा कार्यकर्ताओं को बुला कर उनसे साफ कहा कि पार्टी की युवा इकाइयों के राष्टीय प्रभारी वे हैं। साथ ही उन्होंने कार्यकर्ताओं को नसीहत भी दी कि पूरे प्रदेश में कहीं भी शिवपाल यादव और उनको लेकर नकारात्मक संदेशों वाले न ही पोस्टर लगाए जाएंगे और न ही बैनर। उन्होंने कार्यकर्ताओं से साफ कहा कि यदि कहीं भी ऐसा कोई बैनर पोस्टर नजर आया तो सख्त कार्रवाई होगी।

Contact us: contact@rajexpress.com
Copyright © 2016 RajExpress.com. All Rights Reserved.
Designed by : 4C Plus